फैशन

फैशन और आप

फैशन ये शब्द सुनते ही सबके दिमाग मे अलग अलग इमेज बन जाती हैं,आखिर क्या है फैशन,फैशन के बारे मे हम जितना कहे उतना कम हैं सबकी अपनी अपनी राय हैं ,कोई फैशन को लेट्स टे्ड कहता हैं तो कोई बस एक्सपेरिमेंट,कोई कम्फर्ट,तो कोई बस अपनी फेवरेट सेलिब्रिटी की कॉपी करना पसन्द करता हैं,  सच तो ये है जिसे पहन के खुद को अच्छा लगे और साथ ही कम्फर्ट और कॉन्फिडेंस भी आये,खुद को देखते ही लगे वॉउ यार अच्छा लग रहा है वही सही मायने मे फैशन हैं. फैशन का कोई रूल नही होता कि आपको ये ही पहना है आपने कुछ भी नया एक्सपेरिमेंट किया और वो अच्छा लगा तो वही फैशन बन गया.

समय के साथ बहुत कुछ बदलता रहता हैं और हर नया दौर अपने साथ एक नयापन ले आता हैं.कुछ बदलता हैं तो कुछ उसी मे और जोड दिया जाता हैं या कुछ हटा दिया जाता हैं और वही फैशन बन जाता हैं,फैशन के हिसाब से नही चले तो लोग आउट ऑफ़ फैशन कहने लग जाते हैं, और समाज मे रहने के लिये हमे भी उसके हिसाब से चलना पडता हैं और चलते भी हैं,समाज के हिसाब से नही चले तो हो सकता हैं,हमारा मजाक उड़ाया जायेगा और ये भी हो सकता हैं,अगली किटी पार्टी मे आपको ना बुलाया जाया और कॉलेज या किसी पार्टी में आपको अजीब निगाहो से देखा जाये.कॉलेज मे किसी लडकी ने पुरानी फैशन के कपडे पहने है,तो आपने सुना होगा उसे बहनजी कहने लगते है और ऐसे देखते हैं जैसे तो पता नही क्या कर दिया हो पर हमे हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जो भी पहन रहे हैं या मेकअप कर रहे हैं समय के हिसाब से करे अन्यथा हँसी के पात्र भी बनना पड सकता हैं,जैसे मान लो इंटरव्यू देने जा रहे है,और वहा जीन्स या धोती या चमक दमक की ड्रेस पहन ली या किसी शोक सभा मे चटक रंग के कपड़े पहने तो अच्छा नही लगेगा तो फैशनेबल रहे पर समय के अनुसार.

फैशन कि चमक ऐसी हैं जिसके प्रभाव से आज के युवाओं का बचना मु़शकिल हैं सभी सुन्दर और अट्रैक्टिव दिखना चाहते है,विशेषज्ञों कि माने तो फैशन ना समय के साथ चली लहर है ना ही युवाओं का दीवानापन ये एक ऐसी चीज है,जो हमे अहसास दिलाता हैं,कि वक़्त बदल रहा है,और हर इन्सान वक़्त के साथ चलना चाहता है,और नये वक़्त के साथ फैशन भी कुछ नयापन ले आता है.और हम उसे खुशी खुशी अपनाते भी हैं हमे उसी हिसाब से सब पहना होता हैं,जरूरी नही हम पहने पर फिर भी हम पहनते हैं,हम क्यों आउट ऑफ़ फैशन कहलाये.
कपडे ही नही बहुत सी चीज़ो का हमे ध्यान रखना पड़ता हैं,कपडे एक्सेसरीज मेकअप और भी बहुत कुछ,और समय के हिसाब से इनमे भी बदलाव आता है. जिस हिसाब से हम ड्रेस पहनते है उसी हिसाब से मेकअप एक्सेसरीज हेयर स्टाइल सब करते हैं और ड्रेस भी हम उसी हिसाब से पहनते हैं कि हम कहा जा रहे हैं या कौनसा मौसम चल रहा है.
आज क्या नया फैशन मे हैं,और आप अपने आपको कैसे अपडेट रख सकते है ओर भी बहुत कुछ मैं आपको बताती रहुगी.

3 Comments

  1. ankit September 4, 2017
  2. Rakesh yadav September 27, 2017
    • Nandini Yadav November 20, 2017

Leave a Reply